कुंज बिहारी रास रचैया लिरिक्स

भजन को शेयर जरूर करें-:
Kunj Bihari Raas Rachayia Lyrics (कुंज बिहारी रास रचैया लिरिक्स)

कुंज बिहारी रास रचैया लिरिक्स

कुंज बिहारी रास रचैया,
गोबर्धन गिरधारी,
सुनले अर्ज हमारी,
कान्हा सुनले टेर हमारी !!

आंख मिचोली हमें न भावे,
काहे दर्शन को तरसावे,
बेगि हरो सब पीड़ा मन की
आश मोहे तेरे दर्शन की,
चक्र सुदर्शन लेके आजा,
फिर से मोहन रास रचा जा,
सुनले टेर हमारी !!

छोड़ गया बृंदावन जब से,
भूल गया हम सबको तब से,
यमुना तट पर रास रचाके,
मोहान मुरली मधुर बजाके,
गैया चराने की आजा रे,
मोर पपीहा तुम्हे पुकारे,
आजा रे बनवारी !!

कृष्ण भगवान के अन्य भजन (Krishna Bhajan Lyrics)
मेरा आपकी कृपा से सब कामराधे अपनी कृपा की नज़र थोड़ी
छोटी छोटी गैया छोटे छोटे ग्वालजो तू मिटाना चाहे जीवन की तृष्णा
मुरली वाले कृष्ण कन्हैया तेरे हीमेरी दुनिया श्याम तू ही
मेरे हालात पे तेरी खामोशियाँ साँवरेबता दो ए मेरे मोहन तेरा दीदार कैसे हो
Krishna Bhajan Lyrics Video !

For More Login – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: