यह बिनती रघुबीर गोसाई लिरिक्स | Yah Binti Raghubir Gosai Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Yah Binti Raghubir Gosai Lyrics, यह बिनती रघुबीर गोसाई लिरिक्स

यह बिनती रघुबीर गोसाई लिरिक्स (Yah Binti Raghubir Gosai Lyrics)

यह बिनती रघुबीर गुसांई,
और आस बिस्वास भरोसो,हरो जीव जडताई…

चहौं न कुमति सुगति संपति कछु,रिधि सिधि बिपुल बड़ाई,
हेतू रहित अनुराग राम पद बढै अनुदिन अधिकाई…

कुटील करम लै जाहिं मोहिं जहं जहं अपनी बरिआई,
तहं तहं जनि छिन छोह छांडियो कमठ-अंड की नाईं…

या जग में जहं लगि या तनु की प्रीति प्रतीति सगाई,
ते सब तुलसी दास प्रभु ही सों होहिं सिमिटि इक ठाईं…

राम जी के अन्य भजन (Ram Bhajan Lyrics)
राम नाम की गूंज हो रहीदुख कौन हरे बिन तेरे लिरिक्स
जय रघुनंदन राम निरंजनतुम दर्शन हम नैना रामा
अवध में होली खेले रघुवीराराम नाम का डंका लिरिक्स
Ram Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: