सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये है | Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये है (Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai Lyrics) -: लगी कुटिया भी दुल्हन सी मेरे भोलेनाथ आये है, शिव भजन हिंदी में, Shiv Bhajan Lyrics, Bholenath Bhajan Hindi !

Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai Lyrics, सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये है

सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये है (Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai Lyrics)

सजा दो घर को गुलशन सा,
मेरे भोलेनाथ आये है,
लगी कुटिया भी दुल्हन सी,
मेरे भोलेनाथ आये है…

पखारो इनके चरणों को,
बहाकर प्रेम की गंगा,
बिछा दो अपनी पलकों को,
मेरे भोलेनाथ आये है…

उमड़ आयी मेरी आँखे,
देखकर अपने बाबा को,
हुयी रोशन मेरी गलिया,
मेरे भोलेनाथ आये है…

तुम आकर फिर नही जाना,
मेरी इस सुनी दुनिया से,
कहू हरदम यही सबसे,
मेरे भोलेनाथ आये है…

लगी कुटिया भी दुल्हन सी,
मेरे भोलेनाथ आये है,
सजा दो घर को गुलशन सा,
मेरे भोलेनाथ आये है…

शिव जी के अन्य भजन (Shiv Bhajan Lyrics)
फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथये तेरा करम है भोले भजन
हे भोळ्या शंकरा आवड तुलाजय हो शिव भोला भंडारी
उज्जैन नगरी देखो रे भैयाहिमालय नगरी देखो रे भैया
भंग चढ़ गई बाबा भंग चढ़ गईदूल्हा बने है शिव शम्भू जी
Shiv Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: