राम कुछ करो ऐसा फिर तेरी शरण आऊँ लिरिक्स | Ram Kuch Karo Aisa Phir Teri Sharan Aau Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Ram Kuch Karo Aisa Phir Teri Sharan Aau Lyrics, राम कुछ करो ऐसा फिर तेरी शरण आऊँ लिरिक्स
Ram Kuch Karo Aisa Phir Teri Sharan Aau Lyrics

राम कुछ करो ऐसा फिर तेरी शरण आऊँ लिरिक्स (Ram Kuch Karo Aisa Phir Teri Sharan Aau Lyrics)

राम कुछ करो ऐसा फिर तेरी शरण आऊँ,
राम कुछ करो ऐसा, फिर तेरी शरण आऊँ,
जब कभी जन्म लूँ तो, जन्म अवध में पाऊँ,
राम मेरी आपसे, विनती है इतनी,
बस इतनी सी है आशा,
जन्म जन्म हरी सेवा करूँ मैं,
मन में यही अभिलाषा…

तन पक्षियों का मुझको, गर प्रभु जी मिल जाये,
बैठ कर मुंडेर पर तेरी, बस तेरा ही गुण गाऊं,
राम मेरी आपसे, विनती है इतनी,
बस इतनी सी है आशा,
जन्म जन्म हरी सेवा करूँ मैं,
मन में यही अभिलाषा…

तेरे अवध में रहूं, तन मिले जो जलचर का,
तेरे अवध में रहूं, तन मिले जो जलचर का,
सरयू की लहरों में, लहर बन के लहराऊँ,
राम मेरी आपसे विनती है इतनी,
बस इतनी सी है आशा,
जन्म जन्म हरी सेवा करूँ मैं,
मन में यही अभिलाषा…

पत्थर बनूँ तो मेरी इतनी गुज़ारिश है,
पत्थर बनूँ तो मेरी, इतनी गुज़ारिश है,
मंदिर की चौखट पे, तेरी मैं गढ़ा जाऊँ,
राम मेरी आपसे, विनती है इतनी,
बस इतनी सी है आशा,
जन्म जन्म हरी सेवा करूँ मैं,
मन में यही अभिलाषा…

बनूँ गर पशु तो घूमूं, कौशल की गलियों में,
फूल गर बनूँ कुलदीप, तेरे दर को महकाऊँ,
राम मेरी आपसे, विनती है इतनी,
बस इतनी सी है आशा,
जन्म जन्म हरी सेवा करूँ मैं,
मन में यही अभिलाषा…

राम जी के अन्य भजन (Ram Bhajan Lyrics)
राम रस जिसने भी पियादशरथ के घर जन्मे राम
काहे काया का करता गुमान रेचलो अयोध्या धाम लिरिक्स
देखो राजा बने महाराज लिरिक्सजग के मालिक प्रभु राम है
Ram Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: