मेरे सिर पे मटकी दूध की लिरिक्स | Mere Sir Pe Matki Dudh Ki Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

मेरे सिर पे मटकी दूध की लिरिक्स (Mere Sir Pe Matki Dudh Ki Lyrics) -: भोले को नहावन जाऊँ, मैं जोगण शिव के नाम की, शिव भजन हिंदी में, Shiv Bhajan Lyrics, Bholenath Bhajan Hindi !

Mere Sir Pe Matki Dudh Ki Lyrics, मेरे सिर पे मटकी दूध की लिरिक्स

मेरे सिर पे मटकी दूध की लिरिक्स (Mere Sir Pe Matki Dudh Ki Lyrics)

मेरे सिर पे मटकी दूध की,
भोले को नहावन जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की…

मेरे शिव के शीश पे, चंदा है,
और जटा पे धारी गंगा,
मैं जोगण शिव के नाम की,
भोले को नहावन जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की…

मेरे सिर पे मटकी दूध की,
भोले को नहावन जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की…

रै मन्ने जोगण रूप बणाया है,
लगी शिव दर्शन की आस,
मैं जोगण शिव के नाम की,
भोले को नहावन जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की…

हाँ, मेरे मन में रटन शुबह शाम की,
भोले शंकर का लगाऊँ ध्यान,
मैं जोगण शिव के नाम की,
भोले को नहावन जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की…

हाँ, भोले से नाता जोड़ के,
मैं तो भव सागर तर जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की,
भोले को नहावन जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की…

इस जग के बंधन तोड़ के,
भोले के द्वारे जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की,
भोले को नहावन जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की,
भोले को नहावन जाऊँ,
मैं जोगण शिव के नाम की…

शिव जी के अन्य भजन (Shiv Bhajan Lyrics)
डमरू बजाये अंग भस्म रमायेतेरा प्यार भोले हम पाके रहेंगे
भोले तेरा रंग चढ़ गया शान सेशिव शंकर भोले भंडारी लिरिक्स
गले में जिसके नाग लिरिक्सतेरे भक्तों का तेरे सिवा कौन है
Shiv Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: