जो सुमिरत सिधि होइ गन नायक करिबर बदन | Jo Sumirat Siddhi Hoi Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

जो सुमिरत सिधि होइ गन नायक करिबर बदन (Jo Sumirat Siddhi Hoi Lyrics)

जो सुमिरत सिधि होइ गन नायक करिबर बदन,
करउ अनुग्रह सोइ बुद्धि रासि सुभ गुन सदन !!

मूक होइ बाचाल पंगु चढइ गिरिबर गहन,
जासु कृपाँ सो दयाल द्रवउ सकल कलि मल दहन !!

नील सरोरुह स्याम तरुन अरुन बारिज नयन,
करउ सो मम उर धाम सदा छीरसागर सयन !!

कुंद इंदु सम देह उमा रमन करुना अयन,
जाहि दीन पर नेह करउ कृपा मर्दन मयन !!

बंदउ गुरु पद कंज कृपा सिंधु नररूप हरि,
महामोह तम पुंज जासु बचन रबि कर निकर !!

राम जी के अन्य भजन लिरिक्स (Ram Bhajan Lyrics)
तेरा रामजी करेंगे बेड़ा पार लिरिक्सअब कैसे छूटे राम रट लागी लिरिक्स
राम भजन लिरिक्स इन हिंदीऐसे हैं मेरे राम लिरिक्स
राम तुम बड़े दयालु हो लिरिक्समैंने राम नाम धन पाया मेरे जीवन में
Ram Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: