राम क्यों भेज दिए वन में लिरिक्स | Ram Kyu Bhej Diye Van Mein Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

राम क्यों भेज दिए वन में लिरिक्स (Ram Kyu Bhej Diye Van Mein Lyrics) -: भरत जी रोवे महलन में, राम जी का भजन, Ram Ji Ka Bhajan, Ram Bhajan Lyrics !

Ram Kyu Bhej Diye Van Mein Lyrics, राम क्यों भेज दिए वन में लिरिक्स

राम क्यों भेज दिए वन में लिरिक्स (Ram Kyu Bhej Diye Van Mein Lyrics)

भरत जी रोवे महलन में,
राम क्यों भेज दिए वन में,
भरत जी रोवे महलन में,
राम क्यों भेज दिए वन में…

बड़ी हठीली हठ कर बैठी,
माता कौशल्या की एक ना मानी,
उर्मिला एकली महलन में,
राम, क्यों भेज दिये वन में…

यहां महल वहां नहीं है मढैया,
सिया जानकी संग दोनों भैया,
भीगत होंगे बारिश में,
राम, क्यों भेज दिये वन में…

तेने कैकई जुलम गुजारा,
अपना पद देने आप गमाया,
खटक रही सबकी नजरन में,
राम, क्यों भेज दिये वन में…

भरत जी रोवे महलन में,
राम, क्यों भेज दिये वन में,
राजपाट मोहे ना चाहिये माता,
चाहिये राम लखन से भ्राता,
भाभी क्या सोच होगी मन में,
राम, क्यों भेज दिये वन में…

भरत जी रोवे महलन में,
राम, क्यों भेज दिये वन में,
भरत जी रोवे महलन में,
राम, क्यों भेज दिये वन में…

राम जी के अन्य भजन (Ram Bhajan Lyrics)
सुनले मेरे राम तेरा नाम चाहिएराम नाम का प्याला प्यारे पीले सुबहो
राजीव लोचन राम आज अपने घरराम ने रथ को हांक दियो है लिरिक्स
सिया तो राजा राम की हुई लिरिक्सअयोध्या धाम है यही लिरिक्स
सुख के सब साथी दुःख में ना कोईसखा सब प्रेम से बोलो हरे रामा
Ram Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: