सिया तो राजा राम की हुई लिरिक्स | Siya To Raja Ram Ki Huyi Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Siya To Raja Ram Ki Huyi Lyrics, सिया तो राजा राम की हुई लिरिक्स

सिया तो राजा राम की हुई लिरिक्स (Siya To Raja Ram Ki Huyi Lyrics)

ले लो ले लो रे जनक जी कन्यादान,
सिया तो राजा राम की हुई…

बड़े भाग हैं जनक तुम्हारे रघुवर मिले जमाई,
रूपवान गुणवान बहुत इनमें मुनी के यज्ञ बचाई,
अपने भक्तों का बचाते हरदम मान,
सिया तो राजा राम की हुई…

समय तुल्य समझी तुम पाए कहां तक करूं बढ़ाई,
इंद्रदेव की दशरथ जी ने रण में करी बढ़ाई,
ऐसे काहू को मिले ना मेहमान,
सिया तो, राजा राम की हुई…

राम लक्ष्मण और भरत शत्रुघ्न सुंदर चारों भाई,
चार सुता है जनक तुम्हारे इनको देओ बिहाई,
तुमरो सब विधि से भयो रे कल्याण,
सिया तो, राजा राम की हुई…

गुरु की आज्ञा मान जनक ने मंडप दिया कढ़ाई,
सखिया मंगल गाने लागी सिया राम को बिहाई,
समाधि समधि का बढ़ाते हरदम मान,
सिया तो, राजा राम की हुई…

राम जी के अन्य भजन (Ram Bhajan Lyrics)
अयोध्या धाम है यही लिरिक्ससुख के सब साथी दुःख में ना कोई
सखा सब प्रेम से बोलो हरे रामासीताराम बोल राधेश्याम बोल
हे राजा राम तेरी आरती उतारूँदर्श पिया से खड़े द्वारे लिरिक्स
Ram Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: