राम भजन कर प्राणी लिरिक्स | Ram Bhajan Kar Prani Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Ram Bhajan Kar Prani Lyrics, राम भजन कर प्राणी लिरिक्स

राम भजन कर प्राणी लिरिक्स (Ram Bhajan Kar Prani Lyrics)

राम भजन कर प्राणी तू तेरी दो दिन की जिंदगानी,
तू राम भजन, कर प्राणी…

काया माया बादल छाया,
मूरख मन का है भरमाया उड़ जाएगा सांस का पंक्षी,
फिर क्या है आणि जानी,
तू राम भजन, कर प्राणी…

मुख बोले राम की वाणी मनवा बोले राम की वाणी,
सजन स्नेही सुख के संगी दुनिया है चार दुरंगी ,
तू राम भजन, कर प्राणी…

जिस ने राम राम गुण गाया उस को लगे न दुःख की छाया,
निर्धन का धन राम नाम है मैं हु राम दीवानी,
तू राम भजन, कर प्राणी…

राम जी के अन्य भजन (Ram Bhajan Lyrics)
राम नाम भजले रे मनवाअगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे
रोम रोम में राम समायेरे मन हरि सुमिरन कर लीजे
दीवाने है जो उस प्रभु केहम दीवाने हैं तेरी गली के
Ram Ji Ka Bhajan Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: