अगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे लिरिक्स | Agar Nath Dekhoge Avgun Hamare Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

अगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे लिरिक्स (Agar Nath Dekhoge Avgun Hamare Lyrics) -: तो हम कैसे भव से लगेंगे किनारे, राम जी का भजन, Ram Bhajan Lyrics !

Agar Nath Dekhoge Avgun Hamare Lyrics, अगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे लिरिक्स

अगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे लिरिक्स (Agar Nath Dekhoge Avgun Hamare Lyrics)

अगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे,
तो हम कैसे भव से लगेंगे किनारे…

हमारे लिए क्यों देर किए हो,
हमारे लिए क्यों देर किए हो,
गणिका अजामिल को पल में उबारे,
गणिका अजामिल को पल में उबारे,
अगर नाथ देखोंगे अवगुण हमारे,
तो हम कैसे भव से लगेंगे किनारे…

पतितो को पावन करते कृपानिधि,
पतितो को पावन करते कृपानिधि,
किए पाप है इस सुयश के सहारे,
किए पाप है इस सुयश के सहारे,
अगर नाथ देखोंगे अवगुण हमारे,
तो हम कैसे भव से लगेंगे किनारे…

माना अगम है अपावन कुटिल है,
माना अगम है अपावन कुटिल है,
सबकुछ है लेकिन प्रभु हम तुम्हारे,
सबकुछ है लेकिन प्रभु हम तुम्हारे,
अगर नाथ देखोंगे अवगुण हमारे,
तो हम कैसे भव से लगेंगे किनारे…

अगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे,
तो हम कैसे भव से लगेंगे किनारे…

राम जी के अन्य भजन (Ram Bhajan Lyrics)
रोम रोम में राम समायेरे मन हरि सुमिरन कर लीजे
दीवाने है जो उस प्रभु केहम दीवाने हैं तेरी गली के
रामचंद्र जी की आरतीमेरी जिंदगी है सिर्फ मेरे राम
राम की राम ही जानेदिल ने दिल भरके ना देखी
Ram Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: