पंछियों की आवाजें गूंजती है आंगन में | Panchhiyo Ki Aawaje Gunjati Hai Aangan Mein

भजन को शेयर जरूर करें-:
Panchhiyo Ki Aawaje Gunjati Hai Aangan Mein, पंछियों की आवाजें गूंजती है आंगन में

पंछियों की आवाजें गूंजती है आंगन में (Panchhiyo Ki Aawaje Gunjati Hai Aangan Mein)

पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में,
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में…

एक दुसरे का दुःख बाटता नही कोई,
सब यहाँ पे उलझे है अपनी अपनी उलझन में,
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में,
पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में…

जान से भी बढ़कर है उसको कैसे भुलू मै,
वो बसा है इस दिल की एक एक धड़कन में,
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में,
पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में…

जिस्म क्या जवानी क्या जिंदगी लुटा देंगे,
कोई हम को बांधे तो चाहतो के बंधन में,
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में,
पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में…

पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में,
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में…

माता रानी के अन्य भजन लिरिक्स (Mata Rani Bhajan)
आई माझी मायेचा सागरभक्तो के घर कभी आओ माँ
संसार ये छूटे चाहें प्राण ये छुटेतेरे नाम का करम है ये सारा
करती हूँ तुम्हारा व्रत मैंतेरे दर पे ओ मेरी मैया
Devi Maa Bhajan Lyrics Song !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: