मेरे मन के अंध तमस में लिरिक्स | Mere Man Ke Andh Tamas Mein Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Mere Man Ke Andh Tamas Mein Lyrics, मेरे मन के अंध तमस में लिरिक्स

मेरे मन के अंध तमस में लिरिक्स (Mere Man Ke Andh Tamas Mein Lyrics)

मेरे मन के अंध तमस में ज्योतिर्मय उतारो,
जय जय माँ जय जय माँ जय जय माँ जय जय माँ…

कहाँ यहाँ देवों का नंदन,
मलयाचल का अभिनव चन्दन,
मेरे उर के उजड़े वन में करुणामयी विचरो,
मेरे मन के अंध तमस में…

नहीं कहीं कुछ मुझ में सुन्दर,
काजल सा काला यह अंतर,
प्राणों के गहरे गह्वर में ममता मई विहरो,
मेरे, मन के अंध तमस में…

वर दे वर दे, वींणा वादिनी वर दे,
निर्मल मन कर दे, प्रेम अतुल कर दे,
सब की सद्गति हो, ऐसा हम को वर दे,
मेरे, मन के अंध तमस में…

सत्यमयी तू है ज्ञानमयी तू है,
प्रेममयी भी तू है हम बच्चो को वर दे…

सरस्वती भी तू है महालक्ष्मी तू है,
महाकाली भी तू है हम भक्तो को वर दे…

माता रानी के अन्य भजन लिरिक्स (Mata Rani Bhajan)
मोरी मैया को दईयो सन्देशमेरी मैया के नवरात्रे लिरिक्स
देदे एक लाल भवानी माँजय जय हो तेरी माँ शारदे
माँ शेरावाली प्यारा तेरा दरबारशेर पे होके सवार दर्श दिखा
Devi Maa Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: