कभी न बिसरू राम को लिरिक्स | Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

कभी न बिसरू राम को लिरिक्स (Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics), राम जी का भजन, Ram Ji Ka Bhajan, Ram Bhajan Lyrics !

कभी न बिसरू राम को लिरिक्स (Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics)

कभी न बिसरू राम को लिरिक्स (Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics)

कभी न बिसरूं राम को चाहे दुनिया बिसरी जाए,
सब अर्पण उस नाम को भाव सागर पार लगाये,
दुनिया बिसरी जाए…

वो ही सांचा मीत हे, वो ही तारन हार,
इस जग में हे कुछ नहीं, झूठा सब व्यवहार…

चिर संगी मेरा राम हे, वो ही प्रीत जगाये,
दुनिया बिसरी जाए कभी न बिसरूं राम को चाहे,
दुनिया बिसरी जाए…

सहज भजू हरी नाम को, तजूं जगत तो स्नेह,
अपना कोई हे नहीं, अपनी सगी न देह…

सब कुछ दीन्हा, राम ने अंतर अलख जगाये,
दुनिया बिसरी जाए,
कभी न बिसरूं राम को चाहे…

तू ही दाता तू ही खिव्वैया, और कहीं क्यूँ जाऊं,
तेरे चरण ही मथुरा काशी तु, झको सीस नवाऊ…

तेरा दर्शन करके भगवन जनम मरण मिट जाए,
दुनिया बिसरी जाए कभी न बिसरूं राम को चाहे,
दुनिया बिसरी जाए, दुनिया बिसरी जाए…

राम जी के अन्य भजन लिरिक्स (Ram Bhajan Lyrics)
यही रात अंतिम यही रात भारी लिरिक्सजन्मों से भटकी हुई नाव को लिरिक्स
सीता राम जी की प्यारे राजधानी लागेजरा देर ठहरो राम तमन्ना यही है भजन
राम सिया राम सिया राम जय जय रामसिया राम जय जय राम लिरिक्स
राम जैसा नगीना नहीं सारे जग कीबसाले मन मंदिर में राम लिरिक्स
Ram Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: