जगदम्बा की करो आरती लिरिक्स | Jagdamba Ki Karo Aarti Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Jagdamba Ki Karo Aarti Lyrics, जगदम्बा की करो आरती लिरिक्स

जगदम्बा की करो आरती लिरिक्स (Jagdamba Ki Karo Aarti Lyrics)

जगदम्बा की करो आरती,
आओ प्रित भारत भारत जन,
आओ भारत प्रबा भारती,
माँ जगदम्बा, की करो आरती…

हरयाली धरती की खाली,
कुशा संदेया कुम कुम लाली,
दीप शिखा हर इक कलि की,
सूरज की किरणों ने बाली,
आओ प्रित भारत भारत जन,
आओ भारत प्रबा भारती,
माँ जगदम्बा, की करो आरती…

मानस मंदिर हो उजियारा,
मानव को मानव हो प्यारा,
सब सुख आये सब दुःख जाए,
चीर सिंधु हो सागर थारा,
आओ प्रित भारत भारत जन,
आओ भारत प्रबा भारती,
माँ जगदम्बा, की करो आरती…

शांति धरा पर शांति गगन में,
शांति विराजे मानव मन में,
अंतरिक्ष में शांति सनातन,
शांति विराजे जग जीवन में,
आओ प्रित भारत भारत जन,
आओ भारत प्रबा भारती,
माँ जगदम्बा, की करो आरती…

माता रानी के अन्य भजन लिरिक्स (Mata Rani Bhajan)
शेरावाली मां मेहरावाली माँ लिरिक्सशेर पे बैठी है महारानी लिरिक्स
हमें आस लगी दर्शन की लिरिक्समैया तेरी याद आ गयी लिरिक्स
मेरी माई दिया चुनिया सतरंगियामेरी मैया है जग से निराली
Devi Maa Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: