जब पहुंचे हनुमत लंका लिरिक्स | Jab Pahunche Hanumat Lanka Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

जब पहुंचे हनुमत लंका लिरिक्स (Jab Pahunche Hanumat Lanka Lyrics) बजा राम नाम का डंका, हनुमान जी का भजन, बजरंगबली भजन, Hanuman Ji Ka Bhajan, Bajrangbali Ka Bhajan !

Jab Pahunche Hanumat Lanka Lyrics, जब पहुंचे हनुमत लंका लिरिक्स

जब पहुंचे हनुमत लंका लिरिक्स (Jab Pahunche Hanumat Lanka Lyrics)

जब पहुंचे हनुमत लंका बजा राम नाम का डंका,
सारे राक्षक गबराये माथा रावण का ढंका ,
मैंने चाद वंद चौदस फेरा लगवाया है ,
फिर कैसे अंदर ये बन्दर घुस आया है…

तहस मेहस कर डाला इसने लंका नगरी,
कहा सो रहे थे सब दरबार के खबरी
ले लांग के कैसे समुन्दर पौंछा लंका के अंदर,
साधारण ये नहीं लगता ये है कोई अध्भुत बन्दर,
मैंने चाद वंद चौदस फेरा लगवाया है ,
फिर कैसे अंदर ये बन्दर घुस आया है…

आ तो गया यह अब जाने ना पाए,
मजा यह आने का पता इसको चल जाये,
इसे ढंड कठोर मिलेगा सुन धरती अगन हिले गा,
जितना देखु गा इसको गुसा बहार निकले गा,
मैंने चाद वंद चौदस फेरा लगवाया है ,
फिर कैसे अंदर ये बन्दर घुस आया है…

भेद अकेले भजरंग ने कुंदन ललकारा,
जो भी सामने आया उसे पटक पटक मारा,
सारे राकशक दर भागे कोई टिका न इसके आगे,
दोनों हाथ जोड़ हनुमत से जीवन की भीख ये मांगे,
मैंने चाद वंद चौदस फेरा लगवाया है ,
फिर कैसे अंदर ये बन्दर घुस आया है…

हनुमान जी के अन्य भजन (Hanuman Bhajan Lyrics)
बालाजी दरबार पर भरोसा होनाराम भक्त हनुमान लिरिक्स
तेरे दर को मैं छोड़ कहां जाऊंसंकट ने घेरा हैं आज तेरा राम
तेरे चरणों में मै आ गयाहमने दिल से नहीं बुलाया कैसे
Hanuman Ji Ka Bhajan Video !

For More Bhajan Login – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: