दर पे खड़ी हूं पतंग बन के लिरिक्स | Dar Pe Khadi Hun Patang Banke Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Dar Pe Khadi Hun Patang Banke Lyrics, दर पे खड़ी हूं पतंग बन के लिरिक्स

दर पे खड़ी हूं पतंग बन के लिरिक्स (Dar Pe Khadi Hun Patang Banke Lyrics)

दर पे खड़ी हूँ पतंग बन के,
आओ भोले बाबा तुम डोर बन के…

कोई जल लाया बाबा कोई काव्य दूध हो,
तुमको नहलाएँगे मल मल के,
आओ भोले बाबा तुम डोर बन के…

कोई फूल लाया बाबा कोई बेल पाती,
तुमपे चढ़ाएँगे सब मिल के,
आओ भोले बाबा तुम डोर बन के…

कोई आंक लाया बाबा कोई धतूरा,
तुमको पिलाएँगे मल मल के,
आओ भोले बाबा तुम डोर बन के…

कोई ढोलक लाया बाबा कोई लाया चिमटा,
महिमा हम गाएँगे सब मिल के,
आओ भोले बाबा तुम डोर बन के…

शिव जी के अन्य भजन (Shiv Bhajan Lyrics)
देव निराले मेरे भोले रे लिरिक्समेरे भोले जी का डमरू वही
चलो कांवरिया शिव नगरियाजब मौज में भोला आये लिरिक्स
कोई योगी कहे सन्यासी हैभोले भोले रट ले जोगनी शिव
Shiv Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: