सावन की रुत है आजा माँ | Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

सावन की रुत है आजा माँ (Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa Lyrics) हम झूला तुझे झुलायेंगे, माता रानी के भजन, Mata Rani Bhajan Lyrics, Durga Maa Bhajan Lyrics, Devi Maa Bhajan Lyrics !

Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa Lyrics, सावन की रुत है आजा माँ
Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa Lyrics

सावन की रुत है आजा माँ (Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa Lyrics)

सावन की रुत है आजा माँ,
हम झूला तुझे झुलायेंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे…

कोई भेट करेगा चुनरी,
कोई पहनायेगा चूड़ी,
माथे पे लगाएगा माँ,
कोई भक्त तिलक सिंदूरी…

कोई लिए खड़ा है पायल,
लाया है कोई कंगना,
जिन राहो से आएंगे,
माँ तू भक्तो के अंगना,
हम पलके वहाँ बिछाएंगे…

सावन की रुत है आजा माँ,
हम झूला तुझे झुलायेंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे…

माँ अम्बुआ की डाली पे,
झूला भक्तो ने सजाया,
चन्दन की बिछाई चौंकी,
श्रदा से तुझे भुलाया…

अब छोड़ ये आँख मिचोली,
आजा ओ मैया भोली,
हम तरस रहे है कब से,
सुनने को तेरी बोली,
कब दर्शन तेरा पाएंगे…

सावन की रुत है आजा माँ,
हम झूला तुझे झुलायेंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे…

सावन की रुत है आजा माँ,
हम झूला तुझे झुलायेंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे…

लाखो है रूप माँ तेरे,
चाहे जिस रूप में आजा,
नैनो की प्यास भुझा जा,
बस एक झलक दिखला जा…

झूले पे तुझे बिठा के,
तुझे दिल का हाल सुना के,
फिर मेवे और मिश्री का,
तुझे प्रेम से भोग लगा के,
तेरे भवन पे छोड़ के आएंगे…

सावन की रुत है आजा माँ,
हम झूला तुझे झुलायेंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे,
फूलो से सजायेंगे तुझको,
मेहंदी हाथों में लगाएंगे…

Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa Lyrics in English

Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa,
Hum Jhula Tujhe Jhulayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge…

Koi Bhet Karega Chunari,
Koi Pahnayega Chudi,
Maathe Pe Lagayega Maa,
Koi Bhakt Tilak Sinduri…

Koi Liye Khada Hai Payal,
Laya Hai Koi Kangana,
Jin Raahon Se Aayegi,
Maa Tu Bhakton Ke Angana,
Hum Palke Waha Bichhayenge…

Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa,
Hum Jhula Tujhe Jhulayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge…

Maa Ambuaa Ki Daali Pe,
Jhula Bhakton Ne Sajaya,
Chandan Ki Bichhai Chauki,
Shradha Se Tujhe Bulaya…

Ab Chhod Ye Aankh Micholi,
Aajao Maiya Bholi,
Hum Taras Rahe Hain Kab Se,
Sunane Ko Teri Boli,
Kab Tera Darshan Payenge…

Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa,
Hum Jhula Tujhe Jhulayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge…

Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa,
Hum Jhula Tujhe Jhulayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge…

Lakhon Hai Roop Maa Tere,
Chahe Jis Roop Mein Aaja,
Naino Ki Pyas Bujha Ja,
Bas Ek Jhalak Dikhla Ja…

Jhule Pe Tujhe Baithake,
Tujhe Dil Ka Haal Suna Ke,
Phir Meve Aur Mishri Ka,
Tujhe Prem Se Bhog Laga Ke,
Tere Bhavan Pe Chhod Ke Aayenge…

Sawan Ki Rut Hai Aaja Maa,
Hum Jhula Tujhe Jhulayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge,
Phoolo Se Sajayenge Tujhko,
Mehndi Haathon Mein Lagayenge…

माता रानी के अन्य भजन लिरिक्स (Mata Rani Bhajan)
शेर पे सवार होके आजाअटल छत्र सच्चा दरबार लिरिक्स
तेरी गोद में सर है मैयामन लेके आया माता रानी के
बड़े मान से जमाना माँमाता महादेवी है नाम विराजी
ओ शेरावाली माँ क्या खेलतुझे कब से पुकारे तेरा लाल
Devi Maa Bhajan Lyrics Song !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: