राम दशरथ के घर जन्मे भजन लिरिक्स | Ram Dashrath Ke Ghar Janme Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

राम दशरथ के घर जन्मे भजन लिरिक्स (Ram Dashrath Ke Ghar Janme Lyrics), राम जी का भजन, Ram Bhajan, Ram Bhajan Lyrics !

राम दशरथ के घर जन्मे भजन लिरिक्स (Ram Dashrath Ke Ghar Janme Lyrics)

राम दशरथ के घर जन्मे भजन लिरिक्स (Ram Dashrath Ke Ghar Janme Lyrics)

राम दशरथ के घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो,
घराना हो तो ऐसा हो,
लोग दर्शन को चल आये,
सुहाना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

यज्ञ के काम करने को,
मुनीश्वर ले गया वन में,
उड़ाए शेष दैत्यन के,
निशाना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

धनुष को जाए कर तोडा,
जनक की राजधानी में,
भोप सब मन में शर्माए,
लजाना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

पिता की मान कर आज्ञा,
राम बन को चले जब ही,
ना छोड़ा संग सीता ने,
जनाना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

सिया को ले गया रावण,
बनाकर भेष जोगी का,
कराया नाश सब अपना,
दीवाना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

प्रीत सुग्रीव से करके,
गिराया बाण से बाली,
दिलाई नार फिर उसकी,
याराना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

गया हनुमान सीता की,
खबर लेने को लंका में,
जलाकर के नगर आया,
सयाना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

बाँध सेतु समुन्दर में,
उतारा पार सेना को,
मिटाया वंश रावण का,
हराना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

राज देकर विभीषण को,
अयोध्या लौटकर आये,
वो ब्रम्हानंद बल अपना,
दिखाना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो,
घराना हो तो ऐसा हो,
लोग दर्शन को चल आये,
सुहाना हो तो ऐसा हो,
राम दशरथ के, घर जन्मे,
घराना हो तो ऐसा हो…

राम जी के अन्य भजन (Ram Bhajan Lyrics)
जलाये दीप घर घर मिटाये अंधकारआरती कीजै श्री रघुवर जी की
राम जी के नाम का हो कीर्तन जहांअयोध्या करती है आव्हान भजन
अब सौंप दिया इस जीवन का सब भाररघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम
मुझमे राम तुझमे राम सबमे राम समाया
Ram Bhajan Ram Dashrath Ke Ghar Janme Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: