राधा दौड़ी दौड़ी यमुना पे आई लिरिक्स | Radha Dorhi Dorhi Yamuna Pe Aai Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:

राधा दौड़ी दौड़ी यमुना पे आई लिरिक्स (Radha Dorhi Dorhi Yamuna Pe Aai Lyrics) -: हो कान्हा कैसी ये प्रीत निभाई वे, कृष्ण भजन लिरिक्स, Krishna Bhajan Lyrics, Radhe Krishna Bhajan.

Radha Dorhi Dorhi Yamuna Pe Aai Lyrics, राधा दौड़ी दौड़ी यमुना पे आई लिरिक्स

राधा दौड़ी दौड़ी यमुना पे आई लिरिक्स (Radha Dorhi Dorhi Yamuna Pe Aai Lyrics)

राधा दौड़ी दौड़ी यमुना पे आई,
हो कान्हा कैसी ये प्रीत निभाई वे,
राधा दौड़ी दौड़ी यमुना पे आई…

आज तलाक न कुछ भी छुपाया,
फिर क्यों दिल को आज दुखाया,
रोये रोये बोले राधे रानी दो नैनं बरसे पानी,
तूने कर डाली श्याम पराई रे,
राधा दौड़ी दौड़ी यमुना पे आई…

कैसे कटेगे दिन और रतियाँ,
कैसे जिउगी मैं मन वासियां,
तेरे झूठे पड़ गए वादे पुरे हुए न रह गए आधे,
तूने हासा हासा के रुलाई रे,
राधा, दौड़ी-दौड़ी यमुना पे आई…

मुझसे बड़ी तू सदा रहे गी,
दुनिया तेरा नाम रटेगी,
श्याम से पहले जापे गे राधा,
करता हु मैं पका वाधा,
अब तो करदे हस्स के विदाई रे,
राधा, दौड़ी-दौड़ी यमुना पे आई…

श्याम ने मूड के देखा ना पीछे राधा रो रही अखियां मीचे,
नरेश गंगवाल लिखे कहानी,
दिनेश के नैनं बरसे पानी,
रोये रोये राधे की बिरहा सुनाई रे
राधा. दौड़ी-दौड़ी यमुना पे आई…

कृष्ण भगवान के अन्य भजन (Krishna Bhajan Lyrics)
कोई श्याम सुंदर से कह दो येअब न चराऊ तेरी गईया यशोदा
श्यामा वे बढ़िया रोनका लिरिक्सहारावाले साड़ी लाज राख ले
राधा रानी से मेरी मुलाकात होआ बैठ मेरी गोदी में मैं तुझे
बजी श्याम की बाँसुरिया लिरिक्ससुन बरसाने वाली गुलाम तेरो
Shri Krishna Bhajan Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: