पहाड़ी के मंदिर की देख छटा लिरिक्स | Pahadi Ke Mandir Ki Dekh Chata Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Pahadi Ke Mandir Ki Dekh Chata Lyrics, पहाड़ी के मंदिर की देख छटा लिरिक्स

पहाड़ी के मंदिर की देख छटा लिरिक्स (Pahadi Ke Mandir Ki Dekh Chata Lyrics)

पहाड़ी की धरती में चमका सितारा,
दुर्गा स्वरूपा से छाया उजियारा,
दर्शन को आया है संसार सारा,
गूंज रहा है जय जय कारा…

पहाड़ी के मंदिर की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा…

लाल चुनरियाँ सिर पे विराजे,
सिर पे विराजे माँ सिर पे विराजे,
हाथो में तेरे मेहँदी राचे माँ मेहँदी राचे
कोई न जद्दू से इस के बचा,
मेरो मन है गयो लटा पटा…

चांदी के छत्तर माँ लटके,
रजत सिंघषण बैठी डट के,
सब से निराली है तेरी छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा…

श्याम ने जब से दर्श किया,
दर्श किया है तेरा दर्श किया है ,
बिन मांगे तूने सब कुछ दिया है,
सुध बुध का नाही है मुझको पटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा…

माता रानी के अन्य भजन लिरिक्स (Mata Rani Bhajan)
डूब चला दिन शाम ढले माँदर्शन मैं करके चली जाऊंगी मैया
तेरे दर का मैं बनके सवालीमैया बुलाले नवराते में नाचेंगे हम
भगतां नू दरस दिखाउन वालिएसानू तेरे चरना नाल प्यार
Devi Maa Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: