देखो फिर नवरात्रि आये लिरिक्स | Dekho Fir Navratri Aaye Lyrics

भजन को शेयर जरूर करें-:
Dekho Fir Navratri Aaye Lyrics, देखो फिर नवरात्रि आये लिरिक्स

देखो फिर नवरात्रि आये लिरिक्स (Dekho Fir Navratri Aaye Lyrics)

बही भक्ति की गंगा-यमुना, श्रद्धाओं के दीप जलाये,
देखो फिर नवरात्रे आये…

कोई माँ का भवन बुहारे, कोई तोरणद्वार सँवारे,
यज्ञ-हवन में लगे सभी ही, लगा रहे माँ के जयकारे,
भोग लगाता कोई माँ को, कोई चुनरी लाल चढ़ाये,
देखो फिर नवरात्रे आये…

अम्बर कितना चमक रहा है, मातामय हो दमक रहा है,
मेघों का पानी भी जैसे, अमृत बनके छलक रहा है,
सूरज-चंदा और सितारों ने माता के मुकुट सजाये,
देखो फिर नवरात्रे आये…

फिरे पाप अब मारा-मारा, मिला धर्म को पुनः सहारा,
जगी ज्योत जैसे मैया की, दिव्य हुआ संसार हमारा,
आता-जाता हर क्षण मानो, मातारानी के गुण गाये,
देखो फिर नवरात्रे आये…

माता रानी के अन्य भजन लिरिक्स (Mata Rani Bhajan)
अम्बा माई उतरी है बाग मेंमाई देने वाली है हम लेने
मोही रे हमारो मन मोह लियोतूने ऐसा दरबार नहीं देखा
मेरे नैनों की प्यास बुझा देमाँ तेरी पावन ज्योत जगाई
Devi Maa Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: