अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है लिरिक्स

भजन को शेयर जरूर करें-:
अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है लिरिक्स (Amarnath Shiv Sabke Palanhari Hai Lyrics)

अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है लिरिक्स

महाकाल शिव नाथ भोले भंडारी है,
अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है
,
त्रिनेत्र शिव जोगी शिव विशरारी है,
अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है…

नील कंठ महादेव का डम डम डमरू वाजे,
भस्म रमावे जटा गंग साजे करते भेड़े पार बड़े उपकारी है,
अमर नाथ शिव, सब के पालन हारी है…

वन में समाधि करे महाकाल के मलंग जी,
बाबा बर्फानी सदा रहे अंग संग जी,
भुत प्रेत सब जिनके आज्ञा कारी है,
अमर नाथ शिव, सब के पालन हारी है…

पूजा करे संसार महादेव ॐ नाथ की,
मणि महेश मेरे बाबा सोम नाथ की,
इनयात शिव तिरलोकी शिव त्रिपुरारी है,
अमर नाथ शिव, सब के पालन हारी है…

शिव जी के अन्य भजन (Shiv Bhajan Lyrics)
गौरा बिहाने आए हैं भोलेनाथ जीभोले बाबा तेरी नौकरी सबसे बढ़िया
शंकर ने खुद लिखी है लिरिक्सशिवजी के डमरू से निकला लिरिक्स
जो शिव को ध्याते है शिव उनके हैडमरू वाला बड़ा दिलवाला लिरिक्स
Shiv Bhajan Lyrics Video !

अन्य भजन के लिए लॉगिन करें – hindibhajanlyrics.in

भजन को शेयर जरूर करें-: